समर्थक

                            भारत माता 

देश अनेकों हैं जग में पर 
"माँ" का गौरव भारत पाता /
होगी टेम्स "नदी" कोई पर 
मेरी तो है गंगा "माता" /

सुर-मुनि-ज्ञानी नित कर वंदन 
गायें निस दिन ज्ञान की गीता /
ज्ञान भी देती बल भी देती
बोलो जय-जय-जय गौ माता /

कण-कण में है तू बहती बन 
शक्ति प्रेम करुणा की सरिता /
सत्य सृजन है, शिव सुन्दर है 
अनुपम तेरा गौरव माता /

रक्त-पात जो भी रुकवा दे 
गौतम-अशोक वो बन जाता /
रक्त बहा दे दुनिया में जो 
डायर-ओसामा कहलाता /
 

7 टिप्‍पणियां:

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" ने कहा…

दोस्तों, क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से (http://sach-ka-saamana.blogspot.com/2011/04/blog-post_29.html )

Mithilesh dubey ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति कौशलेन्द्र जी,

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

उत्तम भावों से ओत प्रोत..

हल्ला बोल ने कहा…

भारत माता के सच्चे सपूतों को नमन. सुन्दर अभिव्यक्ति, वन्दे मातरम .

blogtaknik ने कहा…

vande matram

किलर झपाटा ने कहा…

रक्त-पात जो भी रुकवा दे
गौतम-अशोक वो बन जाता /
रक्त बहा दे दुनिया में जो
डायर-ओसामा कहलाता /

टैरिफ़िक रचना कौशलेन्द्र जी

गंगाधर ने कहा…

jai sri ram