समर्थक

कौन कहता है कि अब सुकून है,





      कौन कहता है कि अब सुकून है,


           कौन कहता है कि अब चैन है,
  

    अभी तो बस गिनती हुई शुरू है,
  
           जाने कितने कसाब हैं, जाने कितने लादेन हैं...!!!!!!!!!!!!!!1

3 टिप्‍पणियां:

आशुतोष की कलम ने कहा…

भरा पड़ा है कश्मीर इन लादेनो से...

कौशलेन्द्र ने कहा…

सुर-असुर संघर्षों की गाथाएँ हम पढ़ते रहे हैं ...विपरीत शक्तियां तो सदा से रही हैं पर दिन-प्रतिदिन इनका ध्रुवीकरण और इनकी शक्ति में वृद्धि होती जा रही है. मुश्किल यह है कि सुरों के वेश में असुरों की संख्या बढ़ रही है .असुरों ने स्वयं को सुर और सुरों को असुर प्रचारित कर रखा है .....एड्स का ही दूसरा रूप है यह भी.

हरीश सिंह ने कहा…

कश्मीर ही नहीं पूरा देश भरा है ऐसे लोंगो से...