समर्थक

अमर बलिदानी नाथूराम गोडसे के जन्म दिवस पर सत सत नमन



ऐ वीर तुझे है नमन मेरा

तुम राम कृष्ण की हो संतान..

गाँधी को तूने दिया मोक्ष

ये याद रखेगा हिंदुस्तान......


भारत माता की जय...

नाथूराम गोडसे ...अमर रहे


19 टिप्‍पणियां:

राहुल पंडित ने कहा…

देश भक्ति को पाप कहें यदि
मै हूँ पापी घोर भयंकर
किन्तु रहा वो पुण्य कर्म तो
मेरा है अधिकार पुण्य पर
अचल खड़ा मै इस वेदी पर

नाथूराम वि. गोडसे
१४-११-४९

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

भाई, हम तो, ऐसे ही लेख के दीवाने है,
मेरी भी नमन है,

हरीश सिंह ने कहा…

नाथूराम गोंडसे को याद करके आपने बहुत अच्छा काम किया. हिन्दू धर्म के लिए समर्पित इस वीर को शत-शत नमन

गंगाधर ने कहा…

श्रधांजलि इस वीर को..

vivek ने कहा…

Jis din nathram godse ki asthiyo ka visarjan hoga vo din is desh ka swranim din hoga

kash vo din hamare jivan me jaldi se jaldi aaye

Jai Hind Jai Hindu

कौशलेन्द्र ने कहा…

गांधी कई मामलों में विवादास्पद रहे हैं, यदि लोग उन्हें एक विचार मानते हैं यो निश्चित ही नाथूराम गोडसे भी एक विचार है जिसके समर्थकों की आज भी कमी नहीं है. मेरा अनुरोध है जिन्होंने यशपाल रचित "गांधीवाद की शव परीक्षा" न पढी हो वे इसे अवश्य पढ़ें.

Laxmipat Dungarwal ने कहा…

yeh desh ke shahidon ka durbhagya tha, ki aajadi ke bad satta muslim paraston ke hath rahi, jisase unhe vo sanman nahi mil paya jisake vo hakdar the. nathuram godase gandhi se kam deshbhakt nahin the, parantu muslim paraston ke dusprachar ke karan desh ke dushman man liye gaye, afsos yah he ki, hinduvadi sangathno ne bhi sahi bat ka prachar va galat bat ka pratikar aakramak roop se nahin kiya. isiliye R.S.S ko gali dene ke liye nathuram godase ko iska sadsya bataya jata he, nathuram godase ki baten janta ke samane bar bar aati rahani chahiyen. --laxmipat dungarwal(Jain)

rubi sinha ने कहा…

गाँधी बाबा अवश्य प्रासंगिक है पर जब वे पथभ्रष्ट हुए तो उनका वध आवश्यक था, गोंडसे को बार-बार नमन

कौशलेन्द्र ने कहा…

रूबी जी ! नयी पीढी के लोगों में परम्परा से हटकर डिस्क्रिमिनेशन की क्षमता है यह देखकर प्रसन्न हूँ ....प्रतीत होता है कि आप भी जुझारू और क्रांतिकारी विचारों वाली हैं ....नारी शक्ति का नीर-क्षीर विवेक स्तुत्य है ....आपको मेरा सादर नमन .

Ankit.....................the real scholar ने कहा…

गंधी को मोक्ष नहीं रौरव नरक मिलाना चाहिए

Jai Hindu ने कहा…

मैं नहीं समझता की गाँधी को राष्ट्रपिता या बापू कहा जाना चाहये क्योइंकी देश का बंटबारा करबाने वाला और मुस्लिम हितेषी भारत व् हिन्दू बिरोधी भारत का व्यक्ति हो ही नहीं सकता है इसलिए भारत मैं तो इसे बिलकुल भी राष्ट्रपिता या बापू कहकर संबोदित नहीं करना चाहये
श्री नाथू राम गोडसे एसे कुटिल को मर कर बहुत अच्छा किया प्रभु उनकी आत्मा को शांति दे ...
अब अगर हम वाकई चाहते है की उनकी आत्मा को शांति मिले तो अब हमे भी कुछ करना होगा और एसे देशद्रोहीइयो को जड़ से मिटाना होगा.........
हमे युवा शक्ति को संगठित करना होगा और जातीबाद से उठ हमें अपने हिन्दू भाइयो को हिन्दुतत्व और राष्ट्राबाद के प्रति जाग्रत करना होगा तभी श्री नाथू राम गोडसे जी के अखंड भारत का सपने को पूर्ण होगा ........

बेनामी ने कहा…

नाथूराम गोडसे जी का कृत्य प्रशासनीय है, गाँधी तो नरक में गया यह महान देशभक्त गोडसे अभी भी सच्चे राष्ट्रभक्तों के दिल में है।

girish kumar kesharwani ने कहा…

नाथूराम गोडसे जी का कृत्य प्रशासनीय है, गाँधी तो नरक में गया यह महान देशभक्त गोडसे अभी भी सच्चे राष्ट्रभक्तों के दिल में है।

Soham Arya ने कहा…

hum sirf yahi mante hai ki jo hindutav ka nahi vo hindustaan ka nahi.kyuki gandhi ke karaan bharat ka vibhajan hua,gandhi ke karan ek ayaash(jawahar lal nehru) desh ka pehla pradanmantri bana.

nathu ram ne kuch galat nahi kya,bagat singh ko fanshi gandhi rok sakta tha.par usne aisa nahi kiya.

great freedom fighter:-" bhagat singh"
and father of nation :-"nathu ram godse"

Soham Arya ने कहा…

hum sirf yahi mante hai ki jo hindutav ka nahi vo hindustaan ka nahi.kyuki gandhi ke karaan bharat ka vibhajan hua,gandhi ke karan ek ayaash(jawahar lal nehru) desh ka pehla pradanmantri bana.

nathu ram ne kuch galat nahi kya,bagat singh ko fanshi gandhi rok sakta tha.par usne aisa nahi kiya.

great freedom fighter:-" bhagat singh"
and father of nation :-"nathu ram godse"

health & beauty ने कहा…

नाथूराम गोडसे जी का कृत्य प्रशासनीय है, गाँधी तो नरक में गया यह महान देशभक्त गोडसे अभी भी सच्चे राष्ट्रभक्तों के दिल में है।

SANTOSH KUMAR CHAURASIA ने कहा…

HAM BHI AAPNE DESH AUR DHARAM KE LIYE BALIDAN HONA CHAHATE HAI.
VEER GODASE TO SAUBHAGAYA SHALI THE SAT SAT NAMAN....

Santosh Kumar Chaurasia ने कहा…

nathu ram ne kuch galat nahi kya,bagat singh ko fanshi gandhi rok sakta tha.par usne aisa nahi kiya.

great freedom fighter:-" bhagat singh"
and father of nation :-"nathu ram godse"

Prachi Satav ने कहा…

परम आदरणीय नाथू राम गोडसे का अखंड भारत का स्वप्न मेरे अंदर जीवित है, परंतु उनके जैसी धीर गंभीर वाणी, मुझमे कैसे लाऊं, जो विभाजित माता के दोनों ओर शांति के लिए चिंतित बंधुओं को एक कर सके, जिससे वे विभाजन के द्वारा अपना उल्लू सीधा करने वालों की असलियत पूरे विश्व को दिखा सके?