समर्थक

एक बडा रहस्य दिग्विजय सिंह का पिता कोन ?

        
          परम आदरणिय ईसाई नेता दिग्विजय सिंह जैसे व्यक्ति पर जुते, चप्पल का इस्तेमाल करना बहुत ही निन्दनिय है। क्योकिं ऐसा करने से दिग्विजय सिंह की नही बल्कि जुते, चप्पलो की इज्जत का शोशन होगा। क्योकि दिग्विजय सिंह की योग्यता तो इतनी है की अगर इनके ऊपर दुनिया के सबसे गंदे नाले का पानी फैका जाए तो भी कम है | दिग्विजय सिंह को तो आतंकवादी और राष्ट्रवादी के बीच का अंतर भी नहीं पता | इनकी महानता तो इतनी है कि ये कुख्यात आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को "लादेन जी " कह कर बुलाते है और राष्ट्रनायक भारतीय धरोहर पुजनिये बाबा रामदेव जी को ठग कह कर बुलाते है | अब समझ आया कि अँगरेज़ सरकार 1947 में भारत छोड़ क्यों चली गई | भारत राष्ट्र के खिलाफ विनाशकारी बीज तो वो 28 फरवरी 1947 को ही दिग्विजय सिंह के रूप में बो चुकी थी | गहराई में जाने पर पता चला है कि "दिग्विजय सिंह केवल नाम का हिन्दू हे धर्म से ईसाई है" [जानकारी के लिए http://en.wikipedia.org/wiki/Digvijay_Singh_(politician) इस लिंक में सब कुछ है बस दिग्विजय सिंह के बाप का नाम छोड़ कर, उस पर अभी रिसर्च चल रही है | जिसके बाप को google नहीं ढून्ढ पाया तो हम क्या चीज़ है ? अंग्रेजो के समय कि पैदाइश है तो कुछ कहा नही जा सकता।एक बडा रहस्य दिग्विजय सिंह का पिता कोन ?

10 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

तुझे अपने बाप का पता तो है न ?
वैसे
तू बाहर कब आया पागलखाने से ?

blogtaknik ने कहा…

तेरी माँ जब हमारी गली में आई थी तब तेरा जन्म हुआ है बेटे, अपने बाप से जबान लडाना महंगा पड़ेगा

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

जब पता चल जाये तो उस पर भी एक पोस्ट लिख देना,

क्रांतिकारी हिन्दोस्तानी देशभक्त ने कहा…

बेतुकी बातें

Abhishek ने कहा…

बेनामी तुझे तो ना खुद के बारे में पता है न तेरे बाप के बारे में तभी तो तू बेनामी है चूतिये

poonam singh ने कहा…

सम्मानित सज्जनों, बेनामी के कमेन्ट पर इतनी आपत्ति क्यों ..? जब किसी की कौम पर हमला करोगो तो यही होगा. यह बेनामी भी दिग्विजय का भाई बंधू होगा. तो उसे भी बुरा लगा. कुत्तो के भौंकने से क्या फर्क पड़ता है. आप लोग मिलकर दोनों के बाप खोजिये. दोनों शांत हो जायेंगे.. ॐ शांति ....

vivek ने कहा…

Digvijay singh to shayad PRSHITIT VIRYA se utpann hua hai
Yani parakhnali ki paidayash

drshyam ने कहा…

---Digvijay Singh
9th Chief Minister, Madhya Pradesh
In office
1993 to 2003
Born 28 February 1947 (age 64)
Madhya Pradesh
Political party Congress (I)
Religion Christian..
--- there was wide spread corruption in his regime. Development was totally neglected and condition of basic infrastructure ....He was so overconfident before next elections that he publicly stated "Development doesn't win elections. The party had to pay the price....
---In 2001, during an income tax raid on a liqour manufacturer in Bhopal, income tax authorities seized a diary maintained by the distillery's owners... their names in the diary which reportedly also listed Digvijay Singh's name with a payment of 100 million rupees against it. Digvijay Singh was the chief minister at the time.-- Digvijay Singh said that this was a conspiracy by BJP and NDA to destabilize his government.----गूगल विकीपीडिया...

blogtaknik ने कहा…

अभी अभी सुनने में आया है की :---दिग्विजय सिंग को पागल के हॉस्पिटल में भेज दो - अन्ना हजारे

Krishna Baraskar ने कहा…

मई सोच रहा हु की कुछ लिखू की नहीं लिखू .. साला कुत्ता काटने तो नहीं दौड़ेगा न