समर्थक

एक नवजात शिशु चाहिए ....भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए

आज़ाद भारत के मेरे प्यारे दोस्तों ......कल देर शाम दिल्ली से हरिद्वार पहुंचा .......दायें हाथ की दो उंगलियों में fracture है ......सूजन अब कम हो गयी है ....पर अपन ने भी सोच लिया है .....प्लास्टर नहीं लगवाऊंगा .....ज़रा सा भी हाथ इधर उधर लग जाता है तो दर्द होता है .......और वो ये याद दिलाता है की अपने बेहद इमानदार प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह और त्याग की प्रतिमूर्ति सोनिया जी की तरफ से तोहफा है ....जो उस रात 4 बजे मिला जब हम रामलीला मैदान से खदेड़े जाने के बाद अपना आक्रोश प्रकट करने जंतर मंतर जा रहे थे .....हम ये कहना चाहते थे की इस देश में लूट और भ्रष्टाचार के खिलाफ शांतिपूर्ण ढंग से आवाज़ उठाना हमारा संविधान प्रदत्त मौलिक अधिकार है ........आज सुना है की केंद्र सरकार ने जंतर मंतर पर धारा 144 लगा कर अन्ना को वहां उपवास और आक्रोश प्रदर्शन से रोक दिया है ........दोस्तों फिर कह रहा हूँ ...ये हमारा मूल अधिकार है ......शांतिपूर्वक विरोध प्रकट करने का ...और इसे धारा 144 लगा कर नहीं रोका जा सकता ......ये असंवैधानिक है ...लोकतंत्र की मूल भावना के खिलाफ है ........सरकार कहती है की बाबा लोकतंत्र को कमज़ोर कर रहा है .......जिस देश में विरोधियों का मुह इस तरह लाठियों से और धारा 144 से बंद किया जाए वहां लोकतंत्र की farewell party की तैयारी कर लेनी चाहिए .........1975 ......का इतिहास दोहराया जा रहा है .....तब भी मैंने सुना है कि सारी गिरफ्तारियां रात में ही होती थीं .....सबको जेल में ठूंस दिया था ...प्रेस का गला घोट दिया था ..........ओह याद आया प्रेस का गला तो आज भी घोटा जा रहा है ......हाँ तरीका कुछ अलग है ...आप लोगों ने अगर ध्यान दिया हो तो कल से news chanells पे mid day meals के सरकारी विज्ञापन आने शुरू हो गए हैं ....कुत्तों को हड्डी दाल दी है सरकार ने ......जैसे बोल रही हो कि ...अबे क्या भोंक रहा है ...ये ले हड्डी चूस ......और अब जरा राम देव की तरफ मुह कर के भोंक ......
दूसरी तरफ सरकार ने बाबा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है ........ED ,income tax , DRI ......सारे घोड़े खोल दिए हैं ....कहा है कि सारे कागज़ खंगालो ....कहीं तो फंसेगा ......कुछ भी निकालो ......नंगा कर के तालाशी लो ...कुछ तो निकलेगा .....फिर कहंगे ...अरे ये तो खुद चोर है ...ये हमारे ऊपर क्या भोंक रहा है .......दूसरा बाबा तो नेपाली है .......ये नेपाली हमें कैसे चोर कह गया .....अगर बाल कृष्ण जी नेपाली हैं तो मेरी नज़रों में उनका सम्मान और बढ़ गया आज ........कि एक नेपाली हो के भी इतने निष्काम भाव से भारत मां के बच्चों की सेवा कर रहा है ये आदमी ....अरे तुम डाकुओं से तो अच्छा है ......
बाबा ने आज घोषणा कर दी है कि कभी कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे....कोई राजनैतिक पद ग्रहण नहीं करेंगे ........हमारा कोई राजनैतिक या साम्प्रदायिक agenda नहीं है ....कोई छिपा हुआ agenda नहीं है ....हमारी लड़ाई सत्ता परिवर्तन के लिए नहीं व्यवस्था परिवर्तन के लिए है ........काले धन और भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई में जो भी हमारा साथ देगा हम उसका साथ देंगे ....कोई भी ......और आज की press conference की शुरुआत की ....सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं .........इस गाने से ....बाबा ने बगावत कर दी है ...इस सड़ी गली व्यवस्था के खिलाफ ......
उधर सरकार ने भी ठान लिया है ...कि भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ इस मुहिम को कुचल देगी ........बाबा को चोर ठग बना के .... बाल कृष्ण जी को नेपाली बना के ....पासपोर्ट एक्ट में ....आर्म्स एक्ट में ...चाहे जैसे ....जो भी सर उठाएगा ...कुचल दिया जाएगा .......अब तो इस सरकार के खिलाफ वही बोल सकता है जो खुद एकदम दूध का धुला हो ...एक दम सच्चा सुच्चा ...पवित्र ............ऐसे तो बच्चे ही हो सकते है ...सिर्फ नवजात शिशु ही इतना पवित्र होता है .........

4 टिप्‍पणियां:

poonam singh ने कहा…

यह सरकार भारत माँ की विरोधी है. बाबा की भावना पवित्र है, सभी भारतियों को एकजुट होकर बाबा का साथ देना चाहिए. आखिर कब तक सहेंगे इटली का शासन. अंग्रेजो के बाद अब इटली का शासन है. जागो हिन्दुस्तानियो जागो.
satik rachna

Mohinee ने कहा…

प्रधानमंत्री ने इस्तीफा देना चाहिये

vivek ने कहा…

Sri Sri 420 Sri Manmohan Singh ji hai na bhrstachar se ladne ke liye aur soniya mata ke charno me sastang karne ke liye

jai ho chotte manmohan singh aur chorni soniya ki

Common Hindu ने कहा…

my sympathy for your fracture/pain.....