समर्थक

धरमनिरपेक्ष कांग्रेश की असली पहचान

आतंकवादिओं को ओसमाजी, रास्ट्रवादिओं को कहते ठग,
दिग्विजय के रूप में दिखा, सोनिया कांग्रेश का असली रंग. (१)
पाकिस्तानी आतंकी कसाब का , करते स्वागत सत्कार
देशभक्त निर्दोष भारतीओं पर, करते लाठी, गोली प्रहार,(२)
जो भारत पर हमला करे, फांसी कि सजा हो बरक़रार
उसे बचाने के जतन करे, यह धरम निरपेक्ष सरकार.(३)
हिन्दू, सिख मरे तो चुप बेठे, मुस्लिम हो तो मातम करते,
जनता मरे तो गयी भाड़ में, आतंकियो के घर पर जाते.(४)
देश को लुटने वालों का यंहा , होता हे बहुत सन्मान,
नहीं बताना चाहे सरकार , क्या हे उनकी पहचान. (५)
केसे बताएं कांग्रेश पार्टी, ज्यादातर हे उनके खास खास ,
इनका घिनोना रूप दिखे अगर, तो हो जाये पर्दाफास. (६)
अहंकार सत्ता का छाया , संविधान को दे तोड़- मरोड़,
भ्रस्टाचरिओं को बचाने में , लगे हे देश को छोड़. (७)
विदेशी महारानी को दंडवत करे, होते हे नत मस्तक,
भगवान बताओ कब देगी सदबुधि, इनके द्वार पर दस्तक. (८)

5 टिप्‍पणियां:

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

विनाशकाले विपरीति बुद्धि.....

गंगाधर ने कहा…

sach kaha

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

हम लोग सोने का नाटक करते हैं तो भला जाग कैसे सकते हैं..

blogtaknik ने कहा…

बाबा के मौत की साज़िश?

सबसे पहला प्रश्न, ये कार्यवाही रात में क्यों की गयी?
दूसरा सवाल, पुरे रामलीला मैदान की बिजली क्यों कट दी गयी?
तीसरा सवाल, पुलिस की इतनी ज्यादा संख्या इतने कम समय में कैसे उपलब्ध हो गयी?
चौथा सवाल, पुलिस ने क्यों सोये हुए लोगो को जगा जगा कर भगदड़ मचने के लिए मजबूर किया?
पांचवा सवाल, मंच पर आग क्यों लगाई जाती है?

सरकार की साज़िश थी की लोग भगदड़ मचाये और पुलिस बाबा को मार कर भीड़ में छोड़ दे और बाद में बोले के भगदड़ के कारण बाबा की मौत हो गयी और बाबा के समर्थको की भीड़ की भगदड़ ही बाबा के मौत का कारण है.. ऐसे करके कांग्रेस की रणनीति थी की सांप भी मर जाये और लाठी भी न टूटे. लोग चार दिन गुस्से में रहेंगे फिर भूल जायेंगे..... जवाब दो प्रधान मंत्री

Pandit ने कहा…

आपके काम की जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है....आगे बढ़ते रहिये...आपको हम जैसे लोगो का पूरा सुप्पोर्ट है...ॐ