समर्थक


प्रसिद्द भारतीय गणितज्ञ ब्रह्मगुप्त ने विश्व को शून्य से परिचित कराया .....और एक लम्बे समय के पश्चात अब छत्तीसगढ़ निवासी हायर सेकेंड्री के छात्र अंकुर तिवारी ने पुनः शून्य से टक्कर ली है. भारत की इस प्रतिभा को नमन.
उनकी लिखी पुस्तक " द मिस्ट्री ऑफ़  जीरो  " का एक अंश प्रस्तुत है आपके लिए   

Ankur Tiwari, Bilaspur, Chhatisgarh

Division by Zero : thoughts and solution - ©                                     
First person who thought for division by Zero was an Indian mathematician Brahmagupta. He should be credited for it. At present I (AnkuR Tiwari) also had done a little effort in this field by inventing out a new formula which is capable of dividing by Zero. I had devoted this formula to my country by naming it as ‘Bhartiya New Rule for Fraction’.

E-mail :-  mysteryofzero@gmail.com

2 टिप्‍पणियां:

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

अति सूक्ष्म पोस्ट ....जो कोइ जानकारी नहीं देती....अधिक विस्त्रत व फार्मूले सहित होनी चाहिए....

कौशलेन्द्र ने कहा…

यह पोस्ट मात्र एक सूचना भर के लिए है. गणित हर किसी के लिए रुचिकर विषय नहीं है इसलिए गुणीजन व् उत्सुकगण दी हुयी वेब साईट पर जा सकते हैं. इस बीच यह खबर भी आयी है कि जिस फार्मूले के आविष्कार की बात की जा रही है वह कोई नवीन आविष्कार नहीं है....वास्तविकता क्या है यह तो गणित के विशेषज्ञ ही जान सकेंगे ...दूसरी खबर यह भी है कि किसी विदेशी विश्व विद्यालय द्वारा इस विद्यार्थी को अपने यहाँ अध्ययन हेतु आमंत्रित किया गया है.अंकुर तिवारी का संपर्क सूत्र दे रहा हूँ

Phone Number:- +91- 9039223931
E-mail :- mysteryofzero@gmail.com
Website:- http://www.bnrf.co.cc