समर्थक

हल्लाबोल के प्रबंध मंडल का संशोधित पुनर्गठन


   प्रिय बंधुओ ! एक आवश्यक विचार-विमर्श के पश्चात किंचित संशोधानोपरांत आज दिनांक- १९/०७/२०११ को हल्लाबोल के प्रबंध मंडल का अंतिम रूप से अगले एक वर्ष की कालावधि हेतु गठन किया जाता है. प्रबंधमंडल के पदाधिकारियों की नयी सूची प्रस्तुत है -


सम्पादक -
                  
श्री हरीश सिंह जी 
सहसंपादक -               श्री अंकित जी 
तकनीकी संपादक -      श्री ब्लॉग तकनीक जी 
प्रचार-प्रसार सहायक - श्री प्रतुल वशिष्ठ जी , श्री विश्वजीत जी , श्री अभिषेक         जी , श्री अजित सिंह तैमूर जी एवं श्री अशोक गुप्त जी 
विशेष सलाहकार -      श्री आशुतोष नाथ तिवारी, डॉक्टर श्री श्याम गुप्त जी     , पंडित श्री दिवस दिनेश गौर जी एवं हिन्दू धर्म.   


                              -अध्यक्ष - कौशलेन्द्र ( हस्ताक्षर अपठित )



व्यवस्थापकीय विशेषाधिकार :-
             
    हल्लाबोल के नवगठित संपादक ,  सहसंपादक एवं तकनीकी सम्पादक को इस मंच पर प्रस्तुत किये जाने वाले समस्त आलेखों, चित्रों , कविताओं एवं अन्य किसी भी प्रकार की पठनीय सामग्री के सम्पादन एवं संशोधन विषयक सभी व्यवस्थापकीय विशेषाधिकार अगले एक वर्ष तक के लिए आज दिनांक- १९/०७/२०११ से प्रदान किये जाते हैं. किसी भी पठनीय सामग्री के प्रकाशन का विशेषाधिकार सम्पादक के पास रहेगा. 
                                                                                                                                                        

                             -अध्यक्ष - कौशलेन्द्र ( हस्ताक्षर अपठनीय )                                                 

9 टिप्‍पणियां:

आशुतोष की कलम ने कहा…

धन्यवाद्..
जैसा की पहले भी सूचित किया है मैं २४ तारीख के बाद सक्रिय हो पाउँगा
जय श्री राम

Mithilesh dubey ने कहा…

Pratul vashisht ka naam dekhkar hansi aa rahi hai.??

कौशलेन्द्र ने कहा…

मिथिलेश जी ! इस मंच पर आपके प्रथम बार आगमन पर स्वागत है. प्रतुल जी का नाम देखकर आपको आने वाली हंसी को आपकी प्रसन्नता मानूँ या व्यंग्योक्ति ?

दीपक बाबा ने कहा…

प्रतुल जी का नाम इस मंच पर देख कर 'हल्ला बोल' की गरीमा का एहसास हो रहा है.

डा. श्याम गुप्त ने कहा…

धन्यवाद कौशलेन्द्र जी....

blogtaknik ने कहा…

प्रतुल वशिष्टजी बहुत बढ़िया आपने फेसबुक पेज बना कर बाहर अच्छा काम किया है. पिछले २ दिनों में ही फेसबुक से २०० से अधिक पाठकगण ने हल्ला बोल विजित किया है. वाकई आप का कार्य सराहनीय है. बहुत ही बढ़िया काम

कौशलेन्द्र ने कहा…

प्रिय प्रतुल ! स्नेहासिक्त शुभाशीष !
मैं आपकी व्यस्तता समझता हूँ...इसीलिये दायित्व देते समय बड़ा संकोच हुआ था...तथापि आपकी निष्ठा पर मेरे विश्वास का शुभ परिणाम आना प्रारम्भ हो चुका है. एक बार पुनः स्नेहाशीष ....!

Jeet Bhargava ने कहा…

बढ़िया प्रयास है. इसे एक व्यवस्थित वेबसाईट का रूप दिया जाना चाहिए. आप लोगो से निवेदन है की 'आह्वान AHWAN'(Association of Hindu Writers And Nationalists) से जुड़े. यह गूगल पर सम-विचार लेखको का एक समूह है.

aman angirishi ने कहा…

आज प्रथम परिचय है , अब आपके साथ है हम भी आदेश करे !