समर्थक

हम भी पगले ..... तुम भी पगले...... पगला सब संसार

आजकल बड़े बड़े लोगों में पगल-युद्ध छिड़ा हुआ है। अन्ना ने दिग्गी को पूना के पागलखाने भेजने की बात कही, तो दिग्गी ने अन्ना को ग्वालियर का रास्ता दिखा दिया। अपने हताशाजाम पापू जी ने राहुल को बबलू बता दिया। जवाब में वो उनको खूसट बता देंगे, और क्या ?   कुछ लोग बंटियों को पकड़-पकड़ के उनके गले में भ्रष्टाचार से गली हुई रस्सियों से शिष्टाचार की घंटियाँ बाँधने का निरर्थक प्रयास कर रहे हैं। एक आँख झपका झपका कर एक पिंकी टाइप साधू बाबा सरकार के पीछे पड़े हैं कि "भैया मैं तो कारा-धन खिलोना लै हूँ। पब्लिक भी तो ठीक उसी तरह पगलिया गई है जैसे कि भू भू की तशरीफ़ में पैट्रोल का फ़ोहा छुआ दिया जावे तो वो इकड़े-तिकड़े भागता है, है ना। यार कसम से ऐसा लगता कि उठा कर के लाठी, एक तरफ़ से सबको जो सूँटना शुरू करो ना तो दो चार सौ साल थुथरते ही रहो। हद हो गई है, अब तो इन सबको डायरेक्ट पीटने की बनती है। अदरवाईज़ आय थिंक इट विल बी टू लेट। एम आय राँग ?

हम भी पगले, तुम भी पगले, पगला सब संसार
किलर झपाटे, चला के लठिया, कर दो अब उपचार   

5 टिप्‍पणियां:

राहुल पंडित ने कहा…

राष्ट्र की चेतना सुप्त हो गयी है.लोग चिर निद्रा में सो रहे हैं.जगाने के लिए लाखो बाबा रामदेव,अन्ना हजारे की जरुरत है.जागिये और आगे बढ़कर राष्ट्रधर्म निभाइए

दिनेश पारीक ने कहा…

बहुत बढ़िया लिखा है आपने! और शानदार प्रस्तुती!
मैं आपके ब्लॉग पे देरी से आने की वजह से माफ़ी चाहूँगा मैं वैष्णोदेवी और सालासर हनुमान के दर्शन को गया हुआ था और आप से मैं आशा करता हु की आप मेरे ब्लॉग पे आके मुझे आपने विचारो से अवगत करवाएंगे और मेरे ब्लॉग के मेम्बर बनकर मुझे अनुग्रहित करे
आपको एवं आपके परिवार को क्रवाचोथ की हार्दिक शुभकामनायें!
http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.com/

कौशलेन्द्र ने कहा…

सभी लेखकों/ टिप्पणीकारों से आग्रह है कि स्तरीय भाषा का प्रयोग किया जाय. विरोध प्रकट करने की शालीन भाषा के अभाव में लेखों का प्रकाशन प्रतिबंधित कर दिया जाएगा. ध्यान रहे ब्लॉग का यह मंच विचाराभिव्यक्ति का सशक्त तकनीकी माध्यम है....इसका सम्मान किया जाना चाहिए.
कृपया इस पोस्ट की भाषा में सुधार करें - डॉक्टर कौशलेन्द्र.

हरीश सिंह ने कहा…

रचना के भाव अच्छे है, पर कौशलेन्द्र जी, हमें नहीं लगता की किलर झपाटा जी अपनी शैली बदलेंगे. उनकी आदत कुछ ऐसी ही है. पर दिल के अच्छे है.

किलर झपाटा ने कहा…

आदरणीय राहुल पंडित जी, दिनेश पारीक जी, कौशलेन्द्र जी एवं हरीश जी को सादर धन्यवाद एवं दीपावली की हार्दिक हार्दिक शुभकामनायें।