समर्थक

चिदंबरम बरी : किसी ने भी घोटाला नहीं किया , सब दूध के धुले है . सिब्बल : कोई घोटाला हुआ ही नहीं : no one killed jessica


bharat ratna for dr swamy


      
Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी भारत रत्न के हकदार हैं

    समय समय पर कॉंग्रेस सरकार के अकेले ही दांत खट्टे कर देने वाले , जनता पार्टी के अध्यक्ष और सांसद डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी भारत रत्न के मजबूत दावेदार बनते हैं | 15 सितम्बर 1939 को चेन्नई में जन्मे डॉ. स्वामी पेशे से प्रोफ़ेसर , राजनीतिज्ञ और अर्थशास्त्री के साथ जनता पार्टी के अकेले महारथी हैं | श्री सीताराम सुब्रमण्यम , जो भारत सरकार के सचिव पद से रिटायर हुए , इनके पिता थे ! माता तमिल भाषी लेकिन केरल से थी | दिल्ली के हिन्दू कॉलेज से गणित में हौनार्स की डिग्री प्राप्त करने के बाद इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ statistics से मास्टर डिग्री ली और फिर उसके बाद उच्च शिक्षा के लिए स्कोलरशिप लेकर हावर्ड विश्वविद्यालय गए जहाँ इन्हें सन 1965 में अर्थशास्त्र में पी . एच . डी. की डिग्री से नवाज़ा गया | डॉ.स्वामी हावर्ड विश्वविधालय में ही प्रोफ़ेसर नियुक्त हुए और अब भी वहां समर क्लास्सेस लेते हैं | डॉ. स्वामी आई .आई .टी . दिल्ली में 1969 से लेकर 1991 तक अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर भी रहे हैं | डॉ.स्वामी 1974 से लेकर 1999 तक पांच बार लोकसभा के सदस्य रहे हैं | डॉ. स्वामी 1990 से 1991 और 1994 से लेकर 1996 तक योजना आयोग के भी सदस्य रहे हैं | सन 2004 में डॉ. स्वामी ने कॉंग्रेस नीत सरकार के विरोधस्वरूप राष्ट्रीय स्वाभिमान मंच बनाया जो उन्हीं की जनता पार्टी का एक हिस्सा है | केंद्रीय मंत्री रहे डॉ. स्वामी अंतर्राष्ट्रीय मामलों और आर्थिक मामलों के भी विशेषज्ञ माने जाते हैं | उन्हीं के प्रयासों से भारत और चीन के बीच समझौता हुआ और कैलाश मानसरोवर जाने के लिए रस्ता मिला | डॉ. स्वामी ही 1981 में सबसे पहले कैलाश मानसरोवर पहुँचने वाले भारत वासी बने | डॉ. स्वामी ने हमेशा इस्राएल की प्रशंशा की है कि कैसे उसने अपने आपको अरब के लोगों से न केवल महफूज़ रखा है बल्कि एकमात्र गैर मुस्लिम राष्ट्र होते हुए भी अपना प्रभुत्व बनाये रखा है | डॉ. स्वामी हमेशा इस्राएल से अच्छे संबंधों के हिमायती रहे हैं |
    कॉंग्रेस सरकार की चूलें हिला देने वाले 2G स्पेक्ट्रम घोटाले को उजागर करने वाले डॉ. स्वामी को भारत रत्न देने की हिमायत भी कई बार हुई है लेकिन कॉंग्रेस अपने पक्के दुश्मन को भारत रत्न पुरस्कार से कैसे सम्मानित कर सकती है ? जब कॉंग्रेस की सरकार एक भ्रष्ट प्रधानमंत्री को भारत रत्न दे सकती है तो मुझे लगता है की इमानदार व्यक्ति को इसके लिए नोमिनेट करना भी भारी होगा | स्पष्ट रूप से लिखना चाहता हूँ कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी को भारत रत्न देने में सरदार वल्लभ भाई पटेल से ज्यादा वरीयता दी जाती है , क्यूँ ? जबकि सबको पता है कि राजीव गाँधी बोफोर्स घोटाले में शामिल थे , मगर उन्हें भारत रत्न देकर इस सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार की तौहीन करी गई !

    देश की आजादी से बरबादी के सफर में हमने आधी से अधिक सदी गुजारी है |
    दोस्तो राजनीति के पहिये पर सवार ये सफर आज भी अनवरत जारी है ||

    अगर डॉ. स्वामी 2G के केस में रूचि न लेते तो कॉंग्रेस का ये महा घोटाला जनता के सामने कभी आ ही नहीं पाता | आप जिन्हें सीधा और ईमानदार प्रधानमंत्री कहते हैं , उन्हीं डॉ. मनमोहन सिंह ने डॉ. स्वामी के सन 2008 में भेजे गए पत्रों पर कोई एक्शन नहीं लिया गया | इन पत्रों में स्पष्ट रूप से बताया गया था की ए.राजा अपनी मन मर्ज़ी कर रहे हैं लेकिन इस सब के बावजूद आपके ईमानदार प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने न जाने किस मजबूरी के चलते ( वही जानें ) इस केस को दबाये रखा और इस मजबूरी ने भारत देश की इज्जत को दांव पर लगा दिया | कहीं ये मज़बूरी सोनिया गाँधी की तरफ से तो नहीं ? क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इस घोटाले की राशि में से 18 ,000 करोड़ रुपये सोनिया गाँधी की दोनों बहनों अनुष्का और नादिया को भी दिया गया और कुछ हिस्सा सोनिया गाँधी के दामाद को भी दिया गया | बन्दर बाँट करी गई हमारे खून पसीने की कमाई की | क्या डॉ. मनमोहन सिंह को कोई एक्शन नहीं लेना चाहिए था ? आखिर डॉ. स्वामी को यह केस सुप्रीम कोर्ट में ले जाना पड़ा और बाकी की कहानी आपको पता ही है | लेकिन आपको एक बात जरुर बताना चाहूँगा कि इस से बुरी गत कॉंग्रेस की और क्या होगी कि जब सुप्रीम कोर्ट ने दोबारा स्पेक्ट्रम की नीलामी का आदेश दिया तो उसमें स्पष्ट रूप से कहा कि संचार मंत्री कपिल सिब्बल को इस सबसे दूर रखा जाये | वाह !

    राज की क्या बात करें अराजकता फैली भरपूर है |
    शासक उन्मुक्त और आजाद है, लेकिन जनता मजबूर है ||


    Dr Subramanian Swamy is a Genuine Indian Hero

    30 NOVEMBER 2010 55 COMMENTS
    There’s no doubt in my mind that what India needs is a dozen Dr Subramanian Swamys. One Dr Swamy is definitely not enough. Why? Because the garbage which needs taking out cannot be done by one person, however brilliant, hardworking and committed. But for now, let us thank our lucky stars that India has Dr Swamy at least. He has the nature of a warrior, a karma yogi. But he is also a gyan yogi. With that said for the record, I would like to share with you a few videos of his you must watch.
    ====================
    Manoj Desai (Texas, USA) 
    08 Jan, 2012 06:03 AM
    Bharat Ratna for Dr. Subramanian Swamy.=========================

    1 टिप्पणी:

    राहुल पंडित ने कहा…

    विज्ञान ही नहीं, अर्थशास्त्र में भी झोलाछाप डॉक्टर होते हैं…जैसे डॉक्टर मनमोहन सिंह!
    मैं इसलिए कुछ नहीं बोलता क्योंकि मैडम ने एक दफा समझाया था…बातें कम, स्कैम ज़्यादा!
    दबंग के बाद अभिनव कश्यप जल्द ही मनमोहन सिंह को लेकर इसका सीक्वल बनाने जा रहे हैं…इस बार फिल्म का नाम है-’अपंग‘!
    ओसामा की मौत का स्वागत करते हुए मनमोहन सिंह ने एक बार फिर से सोनिया गांधी के कुशल नेतृत्व की तारीफ की है!
    मनमोहन सिंह को देखकर यकीन करना मुश्किल है कि उन्हें भगवान ने बनाया या फिर मैडम तुसाद ने!
    मनमोहन सिंह का कहना है कि वो अश्लीलता के बिल्कुल खिलाफ हैं इसलिए अपने जीते-जी किसी को EXPOSE नहीं होने देंगे!